Wednesday, September 18, 2019
Home > राष्ट्रीय > आम चुनाव के बाद सदन में अगला विपक्ष का नेता कौन ?

आम चुनाव के बाद सदन में अगला विपक्ष का नेता कौन ?

भारत में लोकसभा चुनाव की उलटी गिनती शुरू हो गयी हैं और सभी पार्टियां सबसे बड़ी पार्टी बनकर सत्ता में आने का प्रयास कर रही हैं ! यदि हम बात करें कि देश की जनता किस पार्टी को देश की बड़ी पार्टी बनाना चाहती हैं तो वह हैं भाजपा क्योंकि तरह तरह मीडिया के सर्वे के अनुसार भाजपा को ही आम चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनाती हुई दिख रही हैं ! अब एक प्रश्न यह उठता हैं कि यदि भाजपा पुनः सत्ता में आती हैं तो सदन में अगला विपक्ष का नेता कौन होगा ? क्योंकि जिस तरह से आम चुनाव में महागठबंधन में शामिल होने वाली पार्टियाँ एक होकर प्रधानमन्त्री मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ रही हैं लेकिन अभी तक यह तय नहीं हो पाया हैं कि प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ महागठबंधन में से कौन प्रधानमंत्री पद के रूप में खड़ा होगा ? यदि देखा जाए तो एक तरफ ममता बनर्जी प्रधानमंत्री पद का उमीदवार मानती हैं तो दूसरी तरफ राहुल गाँधी स्वयं को प्रधानमंत्री पद के लिए स्वप्न देख रहे हैं वही मायावती ने प्रधानमंत्री पद के स्वप्न के लिए कांग्रेस के साथ चुनाव नहीं लड़ने वाली तो वही अखिलेश सिंह यादव अपने पिता को प्रधानमंत्री पद पर बिठाना चाहते हैं लेकिन महागठबंधन से कौन एक नेता प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार होगा यह अभी तय नहीं ! वैसे जनता भी चाहती हैं कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पुनः प्रधानमंत्री बनें इसलिए कोई भी नेता प्रधानमंत्री मोदी के आगे बेदम दिख रहा हैं ! अब जब प्रधानमंत्री पद के लिए जनता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पुनः प्रधानमंत्री बनाना चाहती हैं तो अब यह प्रश्न उठता हैं कि आम चुनाव के बाद सदन में विपक्ष का अगला नेता कौन होगा ? क्योकि जिस महागठबंधन में शामिल पार्टियाँ के सुप्रीमो क्रमशः कांग्रेस के राहुल गाँधी , तृणमूल कांग्रेस से ममता बनर्जी बसपा से मायावती और सपा से अखिलेश यादव इत्यादि जिस तरह से प्रधानमंत्री पद लिए एक दुसरे से भिड़ने के लिए तैयार हैं तो यदि प्रधानमंत्री मोदी पुनः प्रधानमंत्री बन जाते हैं तो निश्चित ही महागठबंधन में शामिल पार्टियों के सुप्रीमो सदन में विपक्ष का नेता बनने के लिए भी आपस में भिंडत करेंगे ! अब देखना यह हैं कि महागठबंधन की तरफ से सदन में अगला विपक्ष का नेता कौन होगा ! इस प्रश्न का जवाब देश की जनता और भाजपा की और से किया जा रहा हैं साथ ही साथ उस दिन का इंतज़ार पूरा महागठबंधन भी कर रहा हैं क्योंकि राजनीती में कुछ भी हो सकता हैं !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *