Wednesday, September 18, 2019
Home > लाइफ स्टाइल > 7वें हौट मोंडे मिसेज इंडिया वल्र्डवाइड का ग्रांड फिनाले 5 अगस्त को

7वें हौट मोंडे मिसेज इंडिया वल्र्डवाइड का ग्रांड फिनाले 5 अगस्त को

नेत्रहीन बच्चों को समर्पित है यह 7वां संस्करण
आर.के.मल्होत्रा/मानव(दिल्ली)  दिल्ली में 5 अगस्त को होने वाले 7वें हौट मोंडे मिसेज इंडिया वल्र्डवाइड के ग्रांड फिनाले को लेकर प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया। श्री साई एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड की पहल पर इस अंतरराष्ट्रीय सौंदर्य प्रतियोगिता हौट मोंडे मिसेज इंडिया वल्र्डवाइड में दुनिया भर से भारतीय महिलाएं हिस्सा ले रही हैं। इस साल भारतीय महानगरों में आडिशन लेने और विदेशों में रह रहे भारतीयों की ऑनलाइन ऑडिशन के बाद, इन महिलाओं ने फिनाले के लिए अर्हता प्राप्त की। यह प्रतियोगिता गुरुग्राम स्थित किंगडम ऑफ ड्रिम में होगा। इस फिनाले में कुल 52 प्रतिभागी सलेक्ट हुए हैं। इसकी जानकारी पत्रकारों को संबोधित करते हुए श्री साई एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक और प्रतियोगिता के आयोजक श्री भरत कुमार भ्रमर ने दी।
हौट मोंडे मिसेज इंडिया वल्र्डवाइड का यह 7वां संस्करण दिव्यांग बच्चों के लिए राष्ट्रिय ब्लाइंड स्कूल दिल्ली को समर्पित है। दिव्यांगों के लिए मदद स्वरूप प्रतिभागियों से एकत्रित किए गए सात लाख रुपये डोनेट किया जाएगा। इसकी जानकीरी श्री भ्रमर नेदी है। इस मौके पर भरत भ्रमर समेत प्रसिद्ध कोरियोग्राफर रश्मि विरमानी,  सोसियोलाइट सेलिब्रेटी सिल्वी, ब्लोशम कोचर और अजय शर्मा मौजूद रहे। ग्राड फिनाले से पहले सभी फाइनलिस्ट प्रतिभागी को ग्रूम करने के लिए और फोटो सेशन के लिए वियतनाम ले जाया जाएगा।
हौट मोंडे मिसेज इंडिया वल्र्डवाइड वुमेन इमपावरमेंट को बढ़ाने के लिए विहाहित महिलओं के लिए एक आकर्शक मंच प्रदान करता है, जो उनमे अपने भीतर के स्व और रचनात्मकता की छानबीन करने और काफी संख्या में उपस्थित दर्शकों के सामने सहजता के साथ बोलने के लिए आत्मविश्वास पैदा करता है। हौट मोंडे मिसेज इंडिया वल्र्डवाइड उनमें अपनी युवा भावना और साहस को अनुभव करने और सभी बाधाओं को तोड़ते हुए अपने सपनों को जीने के लिए और अपने स्वयं की क्षमता का अहसास कर उसे अमल में लाने के लिए प्रेरित करती है।
हौट मोंडे इंडिया ग्रुप के संस्थापक और अध्यक्ष भरत भ्रमर कहते हैं, ‘‘ हम एक ब्रांड के रूप में, मातृत्व और नारीत्व के सार को बढ़ावा देने कीकोशिश करते हैं। यह इस सौदर्य प्रतियोगिता का छठा साल है और हम सौदर्य प्रतियोगिता को और आगे ले जाने की कामना करते हैं।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *